शनिवार, 22 मई 2021

ई- गोल्ड

हाल ही में  भारतीय सुरक्षा विनिमय बोर्ड के प्रमुख अजय त्यागी जी ने एक प्रस्ताव पेश किया है! जिसमें उन्होंने कहा कि अगर हम पूरे भारत में सोने के व्यापार को ई- गोल्ड के रूप करें  ( ई-  गोल्ड रीसिप्ट स्कीम) यानी कि  गोल्ड की जगह ई- गोल्ड के उपर कार्य करेंगे तो ज्यादा बेहतर होगा! जिसमें आप सोने को इलेक्ट्रॉनिक रूप में परिवर्तित सकते हैं! ये सुन कर अक्सर लोगों के मन में एक सवाल उठाता है कि सोने को इलेक्ट्रॉनिक रूप  में कैसे परिवर्तित हो सकता है? 

सोने को इलेक्ट्रॉनिक सोने में कैसे परिवर्तित करते है? 

तो इसके लिए हमें बैंक के पास जाना होगा और अपना सोना बैंक को देकर उसके बदले एक रसीद ले सकते हैं जिसकी कीमत सोने की वजन पर निर्भर होगी और वर्तमान के सोने के भाव जितनी होगी! ऐसा करने से ये फयदा होता है कि हम जितने भाव में सोने को सुनार की दुकान से खरीदें थे उतने भाव में ही बैंक को दे सकते हैं और वही जब हम दुकानों में बेचते हैं तो  सुनार कटौती कर लेता है लेकिन इसमें ऐसा कुछ नहीं है!  और इस रसीद को हम किसी को भी कभी भी सोने के भाव में बिना किसी  काटौती  के  बेच सकते हैं (जितना भाव बैंक में सोने को देते वक्त था) जिसको  बेचेगे वो व्यक्ति किसी दूसरी  बैंक से भी सोने को निकाल सकता है! और अगर आप बेचते नहीं हो तो आप जब चाहे अपने सोने को वापस ले सकते हैं! इससे फायदे ये  होगें कि आप सोने को बैंक के लॉकर में जमा कर के पैैसे देने की जगह आप बैंक को दे कर उससे आप एक रसीद ले सकते जिससे आपका सोना भी सुरक्षित रहेगा और आपका पैैैैसा भी आपके पास रहेेगा! जिस तरह हम बैकों में FD, RD करते हैं ये वैैैैसा ही है! 

ये सोब्रिन गोल्ड बॉण्ड स्कीम से अलग है क्योंकि इसमें सोने को ,सोन के रूप आप दुबारा वापस ले सकते हैं पर सोब्रिन गोल्ड बॉण्ड स्कीम में ऐसा नहीं कर सकते! पर इसमें उन लोगों का फायदा नही होने वाला जिन्होंने ने काले धन को पीला धन बना रखा है 😃😃😅😅 

 अगर इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लिया जाता है तो अच्छा रहेगा! बाकी हर सिक्के के दो पहलू होते हैं पर ये बात ज्यादा मायने रखती है कि कौन सा पहलू भारी खूबियों वाला या कमियों वाला! और इसमें खूबियों वाला पड़ला भारी नज़र आ रहा है फ्रॉड होने के भी नहीं हो सकता क्योंकि ये भारतीय सुरक्षा विनिमय बोर्ड की निगरानी में किया जाएगा और अगर हो भी जाता है तो उसकी पूरी जाच भारतीय सुरक्षा विनिमय बोर्ड द्वारा किया जाएगा जिससे पैसे डूबने का खतरा बहुत ही कम है! 



17 टिप्‍पणियां:

  1. Very useful information thanks for the post
    Nice post👍👍👍👍

    जवाब देंहटाएं
  2. नमस्ते,
    आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा शनिवार (22-05-2021 ) को 'कोई रोटियों से खेलने चला है' (चर्चा अंक 4073) पर भी होगी। आप भी सादर आमंत्रित है।

    चर्चामंच पर आपकी रचना का लिंक विस्तारिक पाठक वर्ग तक पहुँचाने के उद्देश्य से सम्मिलित किया गया है ताकि साहित्य रसिक पाठकों को अनेक विकल्प मिल सकें तथा साहित्य-सृजन के विभिन्न आयामों से वे सूचित हो सकें।

    यदि हमारे द्वारा किए गए इस प्रयास से आपको कोई आपत्ति है तो कृपया संबंधित प्रस्तुति के अंक में अपनी टिप्पणी के ज़रिये या हमारे ब्लॉग पर प्रदर्शित संपर्क फ़ॉर्म के माध्यम से हमें सूचित कीजिएगा ताकि आपकी रचना का लिंक प्रस्तुति से विलोपित किया जा सके।

    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।

    #रवीन्द्र_सिंह_यादव

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. 🙏🙏🙏आपका बहुत बहुत धन्यवाद और आभार🙏🙏🙏

      हटाएं
  3. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    जवाब देंहटाएं
  4. अच्छी स्कीम हैं, सोना भी सुरक्षित और पैसा भी
    बहुत अच्छी उपयोगी जानकारी

    जवाब देंहटाएं
  5. बहुत अच्छा लेख है प्रिय मनीषा | सूना तो था इसके बारे में पर ज्यादा जानकारी महीन थी |सोना भारतीय समाज की दुखती रग रहा है | अच्छा तो तब हो इसके मोह से निकले लोग | पर इस तरह की योजना भी शायद अच्छी ही रहेगी s

    जवाब देंहटाएं

जिन्दगी की शाम

  कहने को उसका पूरा परिवार है, फिर भी उसकी जिन्दगी विरान है! परिवार रूपी बगीचे को लगाने वाला माली, उसी बगीचे की छांव के लिये मोह...